The Law of Divine Oneness दिव्य एकता का कानून [hindi]

The Law of Divine Oneness दिव्य एकता का कानून [hindi]





दिव्य एकता का कानून god in the every particle  हम आसमान में कितने सूर्य देखते है ,हम किताबो में कितने ब्रह्माण्ड को पड़ते है ,खुले आसमान की तरफ हम अगर नज़र दौड़ाये तो हमे नील आसमान के सिबा कुछ गिनी चुनी चीजे दिखई देती है ,जिनको हम जानते है .लेकिन हमारी नज़रो से दूर इस आकाशगंगा से पार अनंत आकाशगंगा है .प्रत्येक आकाशगंगा का अलग एक सूर्य , उसकी अपनी धरती है ,उसमे अनत ग्रह और तारे हैं .उस सब को एक चीज आपस में जोड़ती हैं वो हैं , ईश्वर तत्व ,  adminThe Law of Divine Oneness दिव्य एकता का कानून



The Law of Cause and Effect  कारण और प्रभाव का कानून

अब हम अपनी धरती पर आते हैं ,इस धरती पर जो भी हम देखते हैं ,बोलते हैं सुनते हैं सोचते हैं ये सब प्रतेक जीवित और भौतिक बस्तु आपस में जुडी हुयी हैं ,सभी का एक दूसरे के साथ सम्बन्ध हैं ,इस बात को समझाने के लिए हमारे ऋषि और संत कई ग्रंथो में लिख गए के ईश्वर एक हैं और वो प्रत्येक कण में हैं hr jgha hai , hr ek bastu me hai , जिनको हम धार्मिक ग्रन्थ कहते हैं ,वो अपने अंदर एक गूढ़ वैज्ञानिक रहस्यों को समेटे हुए हैं ,

आपका पालतू कुत्ता , आपका परम् मित्र ,आपका दुश्मन सब को एक चीज जोड़ी हैं वो हैं ईश्वर तत्व ,ईश्वर तत्व सबमे अलग अलग नहीं हैं वो सब जगह एक समान  फैला हुआ हैं .




The Law of Divine Oneness को समझना मानव के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं ,इस से अपने बारे में जानने की जिज्ञासा बढ़ेगी ,हम जो दुसरो के बारे में सोचते हैं , वैसा ही वो हमारे बारे में सोचेगा क्यों हर एक की तार एक दूसरे के साथ जुडी हुयी हैं ,कोई भी एक दूसरे से अलग नहीं हैं .चाहे वो किसी भी जाती धरम का हो ,अगर कोई खुद को अलग समझता हैं तो वो अंधकार में जी रहा हैं.

 

The Law of Divine Oneness दिव्य एकता का कानून  को अपने जीवन में कैसे उतारें  .

ये बात तो सच हैं , ये कानून विज्ञानं ने भी सिद्ध कर दिया हैं , हर एक वियक्ति एक दूसरे के साथ जुड़ा हुआ हैं, किसी अज्ञात से ,अब इसको अपने जीवन में उतारने का जो ख्याल हैं , लोग आपके साथ कैसे व्यव्हार करते हैं ,आप उस व्यव्हार की प्रतिक्रिया कैसे देते हैं ,चाहे आप उनसे नफरत करते हों या आपके प्रिये हों .

उद्धरण के तोर पर – आपके बच्चे ने कोई कीमती सामान तोड़ दिया या घर की दीवारों पर पेन्सिल से कोई चित्र बना दिया उस स्थिति में आपका व्यवहार कैसा होता हैं , आप चिल्ला चिल्ला कर उसको डांटना शुरू कर देते हैं .लेकिन अगर आप law of oneness को समझते तो आप उस स्थिति को बहुत विनम्र तरीके से सुलझा सकते थे .




 

Leave a Comment