स्वपनदोष रोकने के  उपाय 5 आयुर्वेदिक आसान नुस्खे – swapandosh  ka karan ilaj

स्वपनदोष रोकने के उपाय 5 आयुर्वेदिक आसान नुस्खे – swapandosh ka karan ilaj



swapandosh rokne ke upay  ,स्वपनदोष रोकने के उपाय 5 आयुर्वेदिक आसान नुस्खे- swapandosh ka ilaj , nightfall ka ilaj स्वपनदोष की समस्या ज्यादातर युवाओं को होती है , यौवनावस्था में शरीर में हॉर्मोन अधिक मात्रा में बनते है मन में कोई उत्तेजित विचार आ जाये और उस बिचार को पूरा करने का कोई समाधान न होतो तो स्वपन में night discharge  हो जाता है ,ये एक सामान्य बात है लेकिन ये प्रक्रिया महीने में 5 से अधिक बार होने लगे तो समझ लो आपको स्वपनदोष का रोग लग चूका है .




स्वपनदोष रोग क्यों होता है :- 

  • अश्लील फिल्मे फोटो देखना
  • शरीर में हॉर्मोन अधिक मात्रा में बनना
  • गर्म तासीर के खाद्य पदार्थों का सेवन अधिक करना
  • सेक्स के बारे सोचते रहना .
  • रात को सोते समय गर्म दूध पीना .
  • semen का पतला होना भी सबसे बड़ा कारण है स्वपन दोष का
  • हस्तमैथुन करने से भी nightfall का रोग लग जाता है

स्वपनदोष से शरीर पर कुप्रभाव :-

  • वीर्य ही शक्ति है
  • स्वपनदोष होने से पुरुष का शरीर शक्तिहीन होने लगता है
  • आंखे के चारों और काला पन आ जाता है
  • आँखों के आगे छाने लगता है और चककर आना
  • थोड़ा सा काम करने से या चलने से कमजोरी  lagti hai
  • जिन लोगो को स्वपन दोष की शिकायत हो उनमे उत्साह और आत्मविश्वास की कमी आ जाती है.
  • स्वभाव चिड़चिड़ा हो जाता है .
  • शरीर में RBC की कमी होने से चेहरा मुरझाया हुआ सा लगता है.
  • मानसिक तनाव और डिप्रेशन.
  • स्मरण शक्ति कमजोर हो जाती है



 

swapandosh rokne ke upay

स्वपनदोष  समाधान  :-

आयुर्वेद में  swapandosh और मर्दाना कमजोरी  सम्बन्धी रोगो के कई इलाज़ है ,उनका use करने से पहले रोग का कारण ढूढ़ना होगा किस कारण से रोग हुआ है, उस कारण का SOLUTION करें ,उसके बाद इलाज़ और उपाय किया जाना चाहिए .स्वपनदोष की कई मेडिसिन मार्किट में मिल जाती है लेकिन उनसे लाभ कम ही होता है ,इस रोग ख़तम करने के लिए  घरेलु उपचार और आयुर्वेदिक upchar  सहायक होते है .

  1. अपने दिमाग से  अश्लीलता हटा कर सात्विक भाव लाएं .
  2. night को सोने से पहले ठन्डे पानी से हाथ पैर धो लें.
  3. गर्म तासीर की चीजे food बंद कर दें .
  4. रोज़ाना एक 2 पीस आमले का मुरब्बा खाएं .
  5. मीट alcohol , सिगरेट से परहेज करें .

nightfall ka  ayurvedic इलाज :-

आज आपको स्वपन dosh का आयुर्वदिक इलाज बताने जा रहे है इसका सेवन आप कम से कम तीन महीने तक लगातार करें .

इलाज -1 :-
चन्दनासव 2 तोला सुबह 2 तोला शाम को बराबर पानी मिलाकर पिने से कुछ ही दिनों में स्वपन दोष रोग ठीक हो जाता है ,ये आसव शीतवीर्य होने के कारण शरीर की garmi को ख़तम करता है ,स्वपन दोष धातु रोग में भी beneficial है इसके सेवन से बल वीर्य में वृद्धि होने लगती है.

इलाज -2 :-

आमला churan , सफ़ेद मूसली ,दोनों बराबर भाग लेकर चूरन बना लें ३ ग्राम सुबह ३ ग्राम शाम को खाने से ,स्वपन दोष में लाभ मिलता है

इलाज -3 :-

कोंच के बीज , सफ़ेद मूसली ,शतावर , असगंध ,गोखरू सभी ओषधि 50 – 50 ग्राम लेकर बारीक पीस लें ३ ग्राम सुबह ३ ग्राम शाम को गए के दूध के साथ सेवन करने से  रोग ठीक होता है,सेहत बनने लगती है




इलाज -4 :-

चन्दरप्रभा वटी 2 गोलों चन्दनादि वटी एक गोली ऐसी दो खुराक दिन में दो बार खाने से one month में स्वपन दोष ठीक होना शुरू हो जाता है.

इलाज -5 :-

रात को जल्दी सो जाएँ सुबह जल्दी उठ कर jim जाएँ या घर पर exercise  करें कुछ महीनो तक लगातार योगा करने से स्वपन दोष का रोग बिना ओषधि के ठीक हो जाता है.  आधा आधा घंटा ॐ vilom और कपाल भाती करें इस से  काया कल्प हो जायेगा .




इसके साथ आप भोजन में थोड़ा बदलाब करें ,पौष्टिक भोजन खाएं मौसमी फल , हरी सब्जियां , अंकुरित दालें .और सलाद का सेवन भी लाभप्रद होता है .तली हुयी चीजें खट्टा और अधिक spicy भोजन न करें ,मन में किसी प्रकार की हीं भावना न आने दें .इस लेख में बताये गए उपाए करने से पहले किसी आयुर्वेदिक डॉक्टर से सलाह मशवरा जरूर करें

Leave a Comment