साबधान निपा वायरस से हो सकती है मोत – निपा वायरस लक्षण और उपचार

निपा वायरस एक बहुत ही ख़तरनाक वायरस है जिसका विज्ञानं के पास कोई उपचार नहीं है .पिछले दिनों निपा वायरस केरल में 13 मौतें हुयी उनमे से 3 व्यक्ति एक ही परिवार से थे

निपा वायरस के बारे में ये कहा जाता है की ये चमगादड़ों से मनुष्यों में आया है ,कुछ वर्ष पहले इस वायरस का शिकार सूअर हुए थे .सूअरों के बाद मनुष्ये भी इसकी चपेट में आ गए .

निपा वायरस की शुरुआत मलेशिया से हुयी थी अब धीरे धीरे ये दूसरे देशों में भी फ़ैल रहा है .

आपको बता दे की अभी कुछ दिन पहले केरल के एक जिले में निपा वायरस से 13 लोगो की मोत हो चुकी है .जिनमे एक ही 3 परिवार के सदस्य थे

निपा वायरस के संक्रमण से रोगी के दिमाग में सूजन हो जाती है ,जिस कारन उसकी मति भ्रमित हो जाती है ,घबराहट के कारन मरीज का मन बेचैन होने लगता है ,

read this :-

निपा वायरस के लक्षण और उपचार 

 

बुखार ,सर में दर्द की शिकायत होना ये सब निपह वायरस के लक्षण हो सकते है ,कुछ ही घंटो में मरीज बेहोशी (कोमा )की हालत में भी जा सकता है और इलाज़ शुरू होने से पहले ही उसकी मोत भी हो सकती है.

मेडिकल साइंस के पास इसका कोई सटीक उपचार नहीं है ,सिर्फ लक्षणों की दवाई दी जाती है , विशेषज्ञों का कहना है की रीवाबाएरीन नामक एक ओषधि है जिससे इस महामारी को रोका जा सकता है




2 thoughts on “साबधान निपा वायरस से हो सकती है मोत – निपा वायरस लक्षण और उपचार

Leave a Comment