लीवर को स्वस्थ जवान फौलादी और  बनाने के आयुर्वेदिक जूस

लीवर को स्वस्थ जवान फौलादी और बनाने के आयुर्वेदिक जूस





लीवर को स्वस्थ जवान फौलादी और बनाने के आयुर्वेदिक उपाय  लीवर में नए खून का निर्माण होता है ,और पुराने खून की सफाई लीवर करता है अगर लीवर में खराबी आ जाये तो भयानक परिणाम सामने आते है ,शरीर में जहरीला (toxic) खून दौड़ने लगता है जिससे ,हार्ट, किडनी फेलर ,ब्रेन स्ट्रोक जैसी कई गंभीर   बीमारियां लग सकती हैं.अच्छा और स्वस्थ भोजन शास्त्रोक्त जीवन शैली दो ऐसी चीजे है जो लीवर को स्वस्थ और शक्तिशाली बनाती हैंलीवर को स्वस्थ






 

शरीर के विरुद्ध आहार खाने से हमारे लिवर में कमजोरी आ जाती हैं या यूँ कह सकते हैं के लीवर बड़ा हो जाता हैं तब वो खून को अच्छी तरह साफ़ नहीं कर पता और नए खून में निर्माण में कमी आ जाती हैं जिससे आपके शरीर में विषैले पदार्थ इकट्ठा होने लगते हैं ,और वो खून में मिलकर पुरे शरीर में दौड़ने लगते हैं ,जिस से पुरे शरीर में कई प्रकार की बीमारियां लग जाती हैं ,


लीवर खराब होने के मुख्य कारण -:

  1. गर्म तासीर की चीजे अधिक खाने से लीवर खराब हो सकता है
  2. अधिक प्रोटीन खाने से भी लीवर खराब होजाता है .
  3. एंटीबायोटिक का अधिक प्रयोग करने से .
  4. डेंगू मलेरिया टाइफॉइड की बीमारी से
  5. गन्दा पानी पीने से .
  6. लौ क्वालिटी ब्यूटी प्रोडक्ट इस्तेमाल करने से भी लीवर खराब हो सकता है .
  7. काफी चाय ,फ़ास्ट फ़ूड फ्राई चीजें ,

सबसे पहले जरुरत हैं लीवर को स्वस्थ बनाने की ,लीवर को स्वस्थ करने के लिए आपको कुछ आयुर्वेदिक उपाए बताने वाला हूँ जिनका प्रयोग कर के आप अपने लीवर को स्वस्थ और लोहे जैसा मजबूत बना सकते हैं.फिर उसके बाद शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकालने के लिए बॉडी को detoxify करने के लिए आयुर्वेदिक तरीके अपनाने चाहिए उनका भी वर्णन आपको नीचे मिल जायेगा.


लीवर को स्वस्थ जवान फौलादी और बनाने के आयुर्वेदिक जूस-lever detoxify

सामग्री -:

  • भूमि अमला 100 gram
  • भृंग राज 75 ग्राम
  • गिलोय 50 ग्राम
  • पुनर्नवा 50 ग्राम

इन सबको मोटा मोटा कूट कर चूर्ण बना लें फिर किसी हवा बंद डिब्बे में डाल कर रख लें ,रोज सुबह दो चमच इस चूरन के एक गिलास पानी में डाल कर उबालें जब पानी आधा रह जाये तो उसमे दो मुनक्का डाल कर 4-5 मिनट और उबालें उसके बाद इस पानी को छन्नी से निथार कर अलग कर लें और बचा हुआ गुद्दा फेंक दें.

इस औषधियुक्त पानी में 100 ml संतरे का ताजा जूस मिलाकर पी लें ऐसा हर रोज़ पियें लगातार 15 -20 दिन पिने से लीवर स्वस्थ और लोहे जैसा मजबूत और शक्ति शाली बन जाता है .नए रक्त का निर्माण होने लगता है ,आपका स्वस्थ लिवर फिर पुराने रक्त की मुरमत कर के शुद्ध कर देता है .




शरीर में जो विषैले पदार्थ इकठा हो जाते है उनको साफ़ करने की प्रक्रिया को detoxify कहते है बॉडी को deotxify करने के लिए अपने आहार में थोड़ा सा बदलाव करें तली चीजें बिलकुल बंद कर दें ,बिना तड़के बाली दाल खाएं ,सब्जी में मसाला न डालें


टमाटर, पालक, गाजर, बथुआ, करेला, लोकी, ,आदि शाक-सब्जियां और पपीता, आंवला, जामुन, सेब, नारियल पानी ,आलूबुखारा, लीची आदि फल तथा छाछ आदि का अधिक प्रयोग करें  7 दिन ये प्रयोग लीवर को स्वस्थ बना देता है


7 दिन तक भोजम कम खाएं और फलाहार ज्यादा करें ,हरी सब्जियां ,सलाद , और पानी का प्रयोग अधिक करने से शरीर के विषैले पदार्थ बाहर निकल जाते है .कपाल- भाती और ॐ विलोम भी शरीर को detoxify करते है इनको अपनी दिनचर्या में शामिल करें.


जो लोग अधिक शराब पीते हैं उनको ये प्रयोग साल में एक बार जरूर कर लेना चाहिए जिस से वो भविष्य में किसी गंभीर बीमारी के खतरे से बचे रह सकते है.अन्यथा लीवर के साथ साथ किडनी हार्ट फेलर और ब्रेन स्ट्रोक होते देर नहीं लगती .स्वस्थ रहें खुश रहें .

इस आर्टिकल में बताये गए सुझाव शुरू करने से पहले किसी आयुर्वेदिक डॉक्टर से सलाह मशवरा जरूर कर लें .




Leave a Comment