Lactacyd feminine hygiene wash in Hindi -लैक्टैसिड वॉश ladies गुप्तांगों खुजली, जलन और दाने आदि में लाभकारी




Lactacyd  wash in Hindi , vaginal खुजली, जलन और दाने आदि में लाभकारी आप प्रतिदिन अपने शरीर ,हाथों पैरों और चेहरे की साफ़ सफाई पर ध्यान देते है परन्तु अपने अन्तर अंगो की सफाई पर ज्यादा ध्यान नहीं देते .जिस कारण कई प्रकार की व्याधियां उत्पन होने लगती है , बैक्टीरिया पनपने लगते है जो खुजली इचिंग ,जलन और फंगल इन्फेक्शन जैसी परेशानी पैदा करते है .





कुछ तो साधारण साबुन या शैम्पू से सफाई करते है और कई तो सिर्फ सादे पानी से धोते है , शरीर के हर एक अंग का ph वैल्यू अलग होता है .हाथों और चेहरे के स्किन की ph वैल्यू अलग है और गुप्त अंग की ph वैल्यू अलग है  इस लिए आपको अपने अन्तरंगो की सफाई के लिए ऐसे प्रोडक्ट चूज करने चाहिए जिनकी ph वैल्यू मैच करती हो .

योनि का ph लेवल 3.5 से 4.5 है





Lactacyd wash के लाभ ;-

Lactacyd Feminine हाइजीन वाश , लेक्टेसिड फेमिनिन हाइजीन वाश आपके इंटिमेट को फंगल इन्फेक्शन से बचाने के लिए हेल्पफुल है .ये खासतौर पर महिलाओं के लिए बनाया गया है इसको नहाने के दौरान यूज़ करें ,

 Lactacyd Feminine हाइजीन वाश ingredients :-

  1. purified water
  2. magnesium laureth sulfate
  3. disodium laureth sulfosuccinate
  4. cocamidopropyl betaine
  5. glyceryl laurate
  6. glyco; distearate
  7. sodium laureth sulfate
  8. cocamide mea & laureth-10
  9. lactoserum atomizate
  10. peg-7 glycrel cocoate
  11. peg 55propylene
  12. glcol oleate
  13. propelene glycol
  14. 2- phenoxyethanol
  15. perfume
  16. lactic acid
  • लैक्टसीड उत्पादों में दूध आधारित तत्व होते हैं जैसे लैक्टोसरम और लैक्टिक एसिड, जो स्वाभाविक रूप से मादा अंतरंग क्षेत्र में मौजूद हैं
  • लैक्टिक एसिड योनि में नैचुरली होता है .
  • lactacyd wash में lactic acid  है ये योनि में बैक्टीरिया और फंगस को बढ़ने से रोकता है .
  • कई कारणों से इंटिमेट का एसिडिक लेवल कम हो जाता है फिर बैक्टीरिया को बढ़ने का मौका मिल जाता है.इस स्थिति में लैक्टसीड फेमिनिन हाइजीन वॉश यूज़ करना चाहिए .

लैक्टसीड फेमिनिन हाइजीन वॉश बाकि सभी वैजिनल वाश से सबसे बेस्ट है ,ये योनि की भीतर तक सफाई करता है वह एसिडिक लेवल बनाये रखता है ,जिस से इन्फेक्शन होने से बचा जा सकता है ,आप इसे इंटिमेट वाशिंग के लिए डेली यूज़ कर सकते है.

यूज़ कैसे करें :-

इसको आप शैम्पू की तरह यूज़ कर सकते है ,हथेली में Lactacyd Feminine का आधा चमच डालें फिर उसको अपनी योनि के बाहरी स्किन पर लगाते हुए हल्का सा रगड़ें ,3-5 मिनट बाद साफ़ पानी से धो लें .फिर एक सॉफ्ट towel से साफ़ कर लें.




price ;-

100 ml – 176 rs.

manufactured by :-

sanofi – sythelabo (inida) pvt. ltd.

marketed by :-

emcure pharmaceutical ltd.

 

सैनोफी उत्पाद नंबर 1 फेमिनिन हाइजीन वॉश है जो दुनिया भर में आत्मविश्वास को प्रेरित करता है, और 30 से अधिक वर्षों से डॉक्टरों और महिलाओं द्वारा भरोसा किया गया है जो समझते हैं कि स्वस्थ और आत्मविश्वास रखने के लिए स्त्री स्वच्छता आवश्यक है.

इसे विशेष रूप से लैक्टोसरम और लैक्टिक एसिड (दूध से निकाला गया) से खुजली, जलन, जलने की उत्तेजना, सूखापन, योनि डिस्चार्ज और मैलोडोर से बचाने के लिए विशेष रूप से तैयार किया गया है, जो उसके अंतरंग क्षेत्र में हर महिला द्वारा अनुभव किया जाता है.



लैक्टिक एसिड और लैक्टोसरम। लैक्टिक एसिड: घनिष्ठ क्षेत्र के आसपास 5.2 की वांछित पीएच संतुलन को बनाए रखता है.

यह आपको हानिकारक जीवों से बचाता है जो आपके घनिष्ठ क्षेत्र (योनि के आस-पास के क्षेत्र) में सूजन, खुजली और खराब गंध का कारण बन सकता है। लैक्टोसरम  उपचार और मॉइस्चराइजिंग गुण है, सूखापन, खुजली और जलन से रोकता है लैक्टिक एसिड के प्रभाव को बढ़ाता है.

विशेषताएं: –

लैक्टसीड  सूखापन, खुजली, जलन और संक्रमण के खिलाफ दैनिक प्राकृतिक सुरक्षा प्रदान करता है  लैक्टसीड लंबे समय तक चलने वाली ताजगी और सुगंध प्रदान करता है  लैक्टसीड त्वचा पर सुरक्षित और सौम्य है  लैक्टसीड® दुनिया भर में स्त्री रोग विशेषज्ञों द्वारा निर्धारित और अनुशंसित है.




precaution ;-

साबुन और शैम्पू स्ट्रांग होते है ये अन्तरंगो की त्वचा को नुक्सान पहुंचा कर बैक्टीरिया उत्पन करते है.
मार्किट में कई तरह के intiwash उपलब्ध है आपके लिए कौन सा परफेक्ट है ,intiwash खरीदने से पहले आपको कुछ महत्वपूर्ण बातों की जानकारों होनी चाहिए .उसमे गंध ज्यादा न हो , कई निर्माता अपना प्रोडक्ट बेचने के लिए सुन्दर डिज़ाइन की पैकिंग और तेज गंध मिला देते है जो आपके अंग के लिए सही नहीं है .

Leave a Comment