kya hai cloud storage जानिए क्या है Cloud Storage – types of cloud storage

By | June 30, 2018




kya hai cloud storage आज हम क्लाउड स्टोरेज की की पूरी जानकारी हांसिल करेंगे क्लाउड स्टोरेज क्या है और इसके फायदे और नुक्सान , अगर आप नहीं जानते cloud storage  क्या है तो इस आर्टिकल को ध्यान से पढ़ें ,यहाँ आपको क्लाउड स्टोरेज की पूरी जानकारी मिल जाएगी ,

kya hai cloud storage

kya hai cloud storage





जानिए क्या है Cloud Storage :- 

आज से पहले फ्लॉपी डिस्क का प्रचलन था लेकिन अपनी लौ कैपेसिटी के कारन जल्दी ही उसका ब्क्त हो गया उसके बाद फ़्लैश drive  और हार्ड ड्राइव फिर usb डिवाइस स्टोरेज आया लेकिन ऑनलाइन टेक्निकल की दुनिया में लोगो की स्टोरेज की भूख बढ़ती गयी ,जहा पहले 160 gb  बहुत बड़ी बात थी अब 16 tb  भी कम लग रही है.

क्लाउड स्टोरेज की डिमांड प्रति दिन बढ़ती जा रही है इसका दूसरा बड़ा कारन है पोर्टेबिलिटी ,आप अपने कंप्यूटर में लैपटॉप या मोबाइल में किता डाटा सेव कर सकते हो , उसकी एक लिमिट है यदि आपको बहुत ज्यादा डाटा स्टोर करना है कंप्यूटर की हार्ड में स्टोर करते है लेकिन इससे कंप्यूटर की हार्ड डिस्क पर लोड पड़ता है ,स्पेस कम हो जाती है.

गर आप एक्सटरनल हार्ड डिस्क यूज करते है तो उसको आप हर लेकर नहीं जा सकते उसके डैमेज या मिसप्लेस होने पर उसका सारा डाटा आपकी  पहुँच से बाहर हो जायेगा .आप उसे एक्सेस नहीं कर सकते .

क्या है Cloud Storage :- 

इन सब परेशानिओ के लिए क्लाउड स्टोरेज की खोज की कई ,इसके जरिए आप अपना डाटा ,इमेजेज डाक्यूमेंट्स , फाइल्स , software etc. को अपने कंप्यूटर या external हार्ड डिस्क की बजाए ऑनलाइन सर्वर में स्टोर कर के रख सकते है ,जब आपको किसी फाइल या डॉक्यूमेंट की जरुरत पड़े आप ऑनलाइन एक्सेस कर के  डॉक्यूमेंट को यूज कर सकते है.टेक्निकल भाषा में समझे तो google drive  भी क्लाउड स्टोरेज का एक पार्ट है .

इसमें आप 15 gb  तक फ्री स्पेस use  कर सकते है , मतलब आप अपने 15gb डाटा तो गूगल ड्राइव में स्टोर कर के रख सकते है आपको जब जरुरत पड़े आप अपने जीमेल अकाउंट से एक्सेस kare.

कैसें करें Cloud Storage का यूज :-

यदि आपका 15gb स्पेस से काम चल जाता है तो आप गूगल ड्राइव का use करें ये फ्री है ,लेकिन आपकी डिमांड 15gb से अधिक है तो आपको क्लाउड स्टोरेज यूज करने के लिए pay करना पड़ेगा .जिस तरह आप facebook के लिए आईडी बनाते है उसी तरह आपको क्लाउड स्टोरेज प्रोवाइडर वेबसाइट में अपना लॉगिन आईडी बनाना होता है ,फिर आप अपने लैपटॉप pc या स्मार्ट फ़ोन से किसी भी फाइल को online  स्टोरेज में रख सकते है .




top cloud storage provider website list :-

  • Amazon Cloud Drive
  • Apple ICloud Drive
  • Google Drive
  • JumpShare
  • Backblaze
  • OneDrive
  • FlipDrive
  • Dropbox
  • HiDrive
  • HubiC
  • IDrive
  • Mega

 

types of cloud storage :-

क्लाउड स्टोरेज 4 प्रकार का होता है

 

  1. परसनल क्लाउड स्टोरेज
  2. पब्लिक क्लाउड स्टोरेज
  3. प्राइवेट क्लाउड स्टोरेज
  4. हाइब्रिड क्लाउड स्टोरेज

परसनल क्लाउड स्टोरेज :- 

इसमें आप  personal   डाटा स्टोर करते है जैसेकि अपनी images , वीडियोस ,songs ,small apps software और अपनी पर्सनल document files  इत्यादि.  इसका पूरा access भी  मोबाइल user  के पास  होता है. पर्सनल क्लाउड स्टोरेज डाटा sincing की सुविधा के साथ उपलब्ध है ताकि यूजर इसे कहीं भी किसी भी डिवाइस में इस्तेमाल कर सके.

पब्लिक क्लाउड स्टोरेज :- 

इस स्टोरेज को पर्सनल क्लाउड स्टोरेज की तरह आम लोग इस्तेमाल नहीं कर सकते, ऐसा इसलिए क्योकि पब्लिक क्लाउड स्टोरेज बड़े बड़े Enterprises के लिए है. इसमें एंटरप्राइज और Cloud Storage Provider दोनों एक साथ काम नहीं करते बल्कि कंपनी खुद अपने डाटा को मेन्टेन करती है. इसमें इंटरप्राइजेज को टेंशन लेने की की जरूरत नहीं होगी.

प्राइवेट क्लाउड स्टोरेज :- 

private  क्लाउड स्टोरेज में एंटरप्राइज और क्लाउड स्टोरेज प्रोवाइडर दोनों को मिलकर काम करना पड़ता है या यूँ कहें कि दोनों को एंटरप्राइज डाटा सेण्टर में इंटीग्रेट होना पड़ता है. प्राइवेट क्लाउड स्टोरेज को स्टोरेज प्रोवाइडर ही हैंडल और मैनेज करता है क्योकि इसमें उनका Infrastructure होता है. इसकी एक खास बात ये है कि आप इसमें सिक्यूरिटी Threat को दूर कर सकते हो और अपनी परफॉरमेंस को भी सुधार सकते हो. इसके अलावा भी प्राइवेट क्लाउड स्टोरेज में और भी सुविधाएं दी जाती है.

हाइब्रिड क्लाउड स्टोरेज :- 

हाइब्रिड क्लाउड स्टोरेज पब्लिक और प्राइवेट दोनों क्लाउड स्टोरेज का मिश्रण होता है ऐसा इसलिए क्योकि ये कुछ क्रिटिकल डाटा एंटरप्राइज के प्राइवेट क्लाउड स्टोरेज में रहता है तो पब्लिक क्लाउड स्टोरेज की मदद से इसमें दुसरे data  को स्टोर और access भी किया जाता है.





Cloud Storage के फायदे :- 

क्लाउड storage  में आप अपना अनलिमिटेड डाटा ऑनलाइन सेव कर के रख सकते है जब आपको जरुरत पड़े आप एक्सेस करे के यूज , अपने मोबाइल , लैपटॉप कंप्यूटर या एक्सटर्नल हार्ड रख गया डाटा कोर्रुप्त हो सकता है , या डिवाइस के दंगे होने पर डाटा भी ख़तम हो सकता है

लेकिन ऑनलाइन स्टोर किये गए data को आप कभी भी यूज कर सकते है ये कभी आउट ऑफ़ एक्सेस नहीं होता।इसका सबसे बड़ा फायदा इसकी पोर्टेबिल्टी है आप एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाते है तो आपको अपने साथ हार्ड डिस्क , एक्सटरनल हार्ड डिस्क या usb डिवाइस pendrive ले जाने की जरुरत नहीं पड़ती।

गर आप किसी के साथ कोई फाइल शेयर करना चाहते तो उस फाइल का लिंक बनाकर शेयर कर सकते है सेकंड परसन उस लिंक की हेल्प देख सकता है या download कर sakta है आपको पूरी की पूरी फाइल शेयर करने की जरुरत नहीं पड़ती

Cloud Storage के नुकसान :-

बड़ी खामी ये है जब तक आपके पास iternet  की सुबिधा नहीं है तब तक आप ऑनलाइन स्टोर किये गए डाटा को एक्सेस नहीं कर सकते .

सुरक्षा की दृष्टि से ऑनलाइन स्टोरेज सेफ नहीं होता ,ये भी हो सकता आपकी सीक्रेट फाइल को कोई थर्ड पर्सन मिसयूज कर रहा हो.



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *