अधिक पानी पीने से हो सकती है दिमाग में सूजन  – मोत का खतरा

अधिक पानी पीने से हो सकती है दिमाग में सूजन – मोत का खतरा





ek din me kitna pani pina chahiye पानी पीने के नुकसान  अधिक पानी पीने से दिमाग में सूजन हो सकती है – मोत का खतरा Disadvantage Of Drinking Water पानी पीने के नुकसान ,अधिक पानी पीने से दिमाग में सूजन हो सकती है – मोत का खतरा मंडराने लगता है , एक्सपर्ट का मानना है गर्मिओं में डिहाइड्रेशन से बचने के लिए कम से कम 20 गिलास पानी पीना चाहिए लेकिन ये बात कहाँ तक सही है इसका खुलासा आज हम अपने इस लेख में करने जा रहे है .




dihydration  से बचने के लिए गर्मिओं में पानी पीना लाभदायक है लेकिन अगर शरीर में पानी की मात्रा अधिक हो जाये तो उससे आपके गुर्दे ,हार्ट और ब्रेन में bad effect पड़ता है.जरुरत से ज्यादा पानी पीने से ब्लड में सोडियम का level गिरने लगता है ,जी कारण दिमाग की तंत्रिकाओं में सूजन हो सकती है ,kidney  पर अधिक दवाब पड़ता है और व्यक्ति की मोत भी हो सकती है.

अधिक पानी पीने के नुक्सान :-

सोडियम शरीर की कोशिकाओं में पानी के लेवल को कन्ट्रोल करने में सहायता करता है ,परन्तु अधिक मात्रा में पानी पीने से सोडियम और अन्य इलेक्ट्रोलाइट भी कम होने लगते है रीसर्च से पता चला है बॉडी में पानी की मात्रा अधिक हो जाने से trpv4 activate  हो जाता है

ये एक किसम का कैल्शियम chanel है जो हाइड्रेशन सेंसिंग न्यूरॉन्स के समीप होता है इसका मुख्य कार्य बॉडी में पानी के बैलेंस को बनाये रखना होता है इसको आप सिक्योरिटी गॉर्ड भी कह सकते है , researcher  की माने तो अधिक पानी पीने से हाइड्रेशन हो जाता  है जिस से शरीर में सोडियम का लेवल तेजी से गिरने लगता है ,जिस कारण व्यक्ति को hyponetrimia  होने का खतरा रहता है .

hydration के मुख्य लक्षण :-

सिर में दर्द ,उलटी की शिकायत और मितली भी हो सकती है ,मन बिचलित होना और मानसिक में बदलाव होना भ्रम जैसे विकार उत्पन हों सकते है सोचने और समझने की शक्ति कम हो जाती है अगर समय रहते इसका इलाज़ न किया जाये तो muscle की कमजोरी , ऐंठन दौरे और बेहोश होने का खतरा भी रहता है ,कई बार व्यक्ति कोमा की स्तिथि में भी जा सकता है .



एक दिन में कितना पानी पीना चाहिए :-

इस विषय में सबकी अपनी अपनी राय है ,कोई 15 गिलास कहता है तो कोई 20 गिलास लेकिन एक दिन में दो लीटर ( आठ गिलास ) से ज्यादा पानी नहीं पीना चाहिए .उचित मात्रा में पानी पीने के कई फायदे हो सकते है ,इस से स्किन के इंटरनल पार्ट्स को पोषण मिलता है आंतडिओं में जमा मल बाहर निकलने में आसानी होती है .

पानी पीने के आयुर्वेदिक नियम :-

  1. पानी हमेशा बैठ कर पीना चाहिए
  2. exercise करने के तुरंत बाद पानी पीना नुकसान दायक  है
  3. धूप से आकर एक दम ठंडा पानी न पियें
  4. भोजन के बीच में पानी न पियें इस से भोजन सही पच नहीं पाता
  5. खाना खाने के 30 मिनट बाद पानी पियें,
  6. जो पानी आप पी रहे उसका तापमान room के तापमान से अधिक ना हो.

तरबूज ,खीरा ,और खरबूजा खाने के बाद पानी ना पियें इस से हैजा होने का खतरा रहता है .

इस लेख में बताये गए नियमो का पालन करें , पानी उतना ही पियें जितनी शरीर को जरुरत ,8 glass पानी पीने का कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है,इस लेख के बारे में अगर आप कुछ कहना चाहते है तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिख कर कह सकते है




Leave a Comment