आप को भी सरकारी नौकरी चाहिए – govt job ya private job in hindi

आप को भी सरकारी नौकरी चाहिए – govt job ya private job in hindi




govt job ya private job in hindi भारत के 60 % माता पिता का सपना है उसके बेटा या बेटी को सरकारी जॉब मिले लाइफ में सेटल हो जाये बस और कुछ नहीं चाहिए ईश्वर से, ऐसा भाग्य सबका तो हो नहीं सकता अगर सभी युवा सरकारी नौकरी पर लग जाये तो देश की आर्थिक स्थिति बिगड़ सकती है , न तो समय पर सैलरी मिलेगी और न ही कोई परमोशन , इस समय देश में 2 करोड़ 15 लाख सरकारी कर्मचारी है ,भारतीय समाज की एक सबसे बड़ी खामी है

govt job ya private job
govt job ya private job




यहाँ सरकारी कर्मचारी की इज्जत और प्राइवेट जॉब करने वालों को हीन भावना से देखा जाता है .आज हम आपको सरकारी जॉब और प्राइवेट जॉब के बारे में कुछ रोचक बातें बताने वाले है ,जिनको पढ़ कर आपको ये फैंसला करने में देर नहीं लगेगी की आपको प्राइवेट जॉब करनी चाहिए या सरकारी जॉब के लिए समय की बर्बादी .

govt jobs ya private jobs kya kare ?

सरकारी job की विशेषताएं :-

मध्यवर्गीय परिवार में सरकारी नौकरी को जितनी अहमियत दी जाती है उसको देख कर लगता है ,मध्य वर्गीय परिवार आने वाले 100 वर्षों तक मध्यवर्ग में ही रहेंगे , एक सरकारी कर्मचारी की सैलरी 25000 से लेकर 1 लाख rs तक होती है . कुछ गिने चुने पद है जिनमे मंथली सैलरी 2 लाख से 5 लाख rs. तक है परन्तु सबको वो सीट तो मिल नहीं सकती.

सरकरी नौकरी के फायदे देख कर अनएम्पलॉय इसके पीछे भागते है , कारन यहाँ आपको एक सिक्योरिटी मिल जाती है आपको कोई जॉब से निकाल नहीं सकता ,आपको समय समय पर प्रमोशन मिलती है परमोशन के साथ आपकी सैलरी भी इनक्रीस होती है,

सिर्फ आठ घंटे काम करना उसके इलावा आपको एक साल में 60 छुटियाँ भी मिलती और कैलेंडर हॉलीडेज अलग से कुल मिलाकर एक सरकारी कर्मचारी एक साल में 8 महीने काम करता है परन्तु उसको सैलरी पुरे साल की मिलती है ये है इसकी सबसे बड़ी विशेताएं है ,


प्राइवेट job के लाभ :-

प्राइवेट जॉब सरकारी नौकरी से बिलकुल विपरीत है , जहां सरकारी नौकरी सिर्फ पक्षपात के आधार पर मिलती है वही प्राइवेट जॉब आपकी काबलियत और टैलेंट पर निर्भर करती है आपकी कुलाइफिकेशन ,और नॉलेज जितनी अधिक है  उतनी ज्यादा सैलरी आपको मिलेगी ,

बहुत सारी मल्टी नेशनल कम्पनीज है अपने कर्मचारिओं को फ्लैट कार और किसी भी सरकारी कर्मचारी से कई गुना अधिक सैलरी देती हैं ,

एक सरकारी कर्मचारी जहा विदेश जाने के सिर्फ सपने देख सकता हैं ,दूसरी और एक प्राइवेट जॉब करने वाले को कई बार कम्पनीज की तरफ से विदेश भेजा जाता हैं , जहां उसके रहने खाने का बंदोवस्त कम्पनीज की तरफ से होता हैं सैलरी अलग से मिलती हैं .

प्राइवेट जॉब का एक और फायदा ये भी हैं आप जब चाहे जॉब छोड़ कर दूसरी जॉब में शिफ्ट हो सकते हैं . यदि आपको लगे यहाँ आपको सैलरी कम मिल रही हैं तो आप कभी भी दूसरी ऐसी कम्पनीज में अप्लाई कर सकते हैं जहां आपको salary और सुबिधा ज्यादा मिलती हैं .

सरकारी जॉब में अगर आपको सिर्फ 40000 रुपय महीना सैलरी मिल रही हैं तो आपको सारी उम्र वही चिपके रहना पड़ता हैं .आप जॉब छोड़ने का रिस्क नहीं ले सकते.

प्राइवेट सेक्टर में कुछ ऐसे जॉब्स भी हैं जिसमे आपको ऑफिस जाने की भी जरुरत नहीं हैं आप अपने घर से ही ऑफिस का काम कर सकते हैं , वेब डेवेलपर , सॉफ्टवेयर इंजीनियर , चार्टेड अक्काउंटेंट ,भविष्य में जिस तरह हर काम ऑनलाइन हो रहा हैं .वेब डेवेलपर और सॉफ्टवेयर इंजीनियर की डिमांड बढ़ने वाली हैं .

एक सरकारी नौकरी पेशे वाला वियक्ति महीने का अधिक से अधिक 50000 हजार कमा सकता हैं ,परन्तु अगर आपको किसी अच्छी प्राइवेट कम्पनी में जॉब मिल गयी तो आप महीने का 70000 हजार से लेकर 5 लाख से भी अधिक सैलरी प्राप्त सकते हैं .

.
भविष्य जिन private जॉब्स में डिमांड बढ़ने वाली हैं उनकी लिस्ट इस प्रकार हैं

App developer

Computer systems analyst

Market research analyst

Personal financial adviser

cyber security analtytic

Database administrator

Cloud engineer

Physical therapist

Health services manager

Physician assistant


विश्लेषण :- सरकारी जॉब के लिए आपके पास अच्छे कांटेक्ट होने चाहिए ,वही प्राइवेट जॉब के लिए टैलेंट मायने रखता हैं ,सरकारी जॉब प्राप्त करने की उम्र 18 से 25 के दरमियान हैं प्राइवेट जॉब के लिए आप कभी भी अप्लाई कर सकते हैं.इस आर्टिकल को रीड करने के बाद आपको फैंसला करने में देर नहीं लगेगी की आपको govt job ya private job दोनों में से क्या सेलेक्ट करना हैं .




Leave a Comment