angoor ki shrab kaise bnate hai -अंगूर की शराब कैसे बनाते है

angoor ki shrab kaise bnate hai -अंगूर की शराब कैसे बनाते है





angoor ki shrab kaise bnate hai -अंगूर की शराब कैसे बनाते है.वैसे तो शराब पीने के बहुत ज्यादा नुकसना होते है,शराब पीना स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है ये आप सब जानते है अपने आस पड़ोस में कई किस्से सुनने को मिल जाते है भारत में तो कई लोग सस्ती शराब के कारन मोत के मुँह में चले गए. जिसको शराब की लत लग गयी फिर इस से पीछा छुड़ाना मुश्किल है शुरू में तो इंसान शराब पीता है उसके बाद शराब इंसान को पी जाती है .उसको अंदर से खोखला कर देती है ,धन सम्पति सब बर्बाद लोगो ने तो अपने घर तक बेच दिए शराब के कारणangoor ki shrab kaise bnate hai






 

आज कल जो अंग्रेजी शराब का ज्यादा बोलबाला है वो भी सेहत को उतना ही नुक्सान देती है जितना एक देसी शराब फर्क सिर्फ इतना है देसी शराब से इंसान  एक दम मर सकता है दूसरी और अंग्रेजी शराब से धीरे धीरे मरता है .


जहा शराब की इतनी बुराइयां है वही इसके कई अच्छे पहलु भी हैं ,शराब की शुरुआत कब हुयी थी ये कहना मुश्किल है क्यों के भारत का इतिहास लाखो वर्ष पुराना है तब से सूरा और मदिरा का प्रचलन है भारत के आयुर्वेदाचार्यों ने अगर सुरः की खोज की है तो इसके पीछे कई रहस्य है ,


जब हमारे मनिषिओं ने सुरः आसव और अरिष्ट की खोज की थी उस समय इसका प्रयोग कई प्रकार की बिमारिओं को ठीक करने के लिए किया जाता था ,आयुर्वेद अनुसार बनी सुरः एंटीऑक्सीडेंट के रूप में भी प्रयोग की जाती थी इसकी सही मात्रा लेने पर इंसान सौ वर्ष तक जवान रह सकता था |शरीर में बल और शक्ति की वृद्धि करती थी वो सूरा जो हमारे आयुर्वेदाचार्यों द्वारा बनाई जाती थी .




समय बीतता गया अब इसको नशे के लिए प्रयोग किया जाने लगा लोग अपने स्वार्थ के लिए घटिया किस्म की शराब बनाने लगे जिसमे कई प्रकार के जहरीले केमिकल मिलाकर लोगो की जिंदगी से खिलवाड़ किया जाता है ,एक बार शराब बनाने में एक महीना लग सकता है लेकिन लोग इसको जल्दी बनाने केलिए इसमें यूरिया जैसे रासायनिक पदार्थ डाल देते है जिसको पीने से कई लोग मरते है.


आज हम आपको अंगूर की वाइन बनाना सीखा रहे है इसकी उचित मात्रा लेने से आपकी उम्र लम्बी हो सकती है क्यों के अंगूर में एंटीऑक्सीडेंट होता है जो बुढ़ापे को आने नहीं देता अगर दुबले पतले लोग इसको पिएंगे तो उनकी सेहत बन जाएगी और स्वास्थ्य अच्छा रहेगा भूख खुल कर लगेगी खाया हुआ अच्छी तरह हजम हो जाता है शरीर में रक्त की कमी नहीं रहती क्यों के अंगूर से शरीर में नया रक्त बनने लगता है ,महिलाओं को डायबिटीज का खतरा नहीं रहता .


सामग्री :–
एक किलो काले अंगूर
700 ग्राम चीनी
yeast एक चमच
wheat 100 ग्राम
विधि —
एक किलो अंगूर को अच्छी तरह साफ कर लें उनको मसल कर कांच के वर्तन में डाल लें उसके बाद उसमे 700 ग्राम चीनी डालें ,लकड़ी के spatula से अच्छी तरह हिलाएं ,उसके बाद एक चमच यीस्ट को एक कटोरी हलके गर्म पानी में घोल कर उसमे मिला दें आखिर में100 ग्राम वीट मिलकर वर्तन का मुँह बंद कर के रख दें हर रोज ढक्क्न खोल कर लकड़ी के spatula से उसके हिलना जरुरी है ,

21 दिन तक ऐसा करने से रेड वाइन त्यार हो जाती है इसको छन्नी से अच्छी तरह निथार कर 50 ml रोज रात को पीने से नींद अच्छी आ जाती है इसका कोई नुक्सान भी नहीं है ,स्वास्थ्य को सुधरता है.


रेड वाइन पीने के लाभ —

  • इसके फायदे आपको ऊपर बताये गए है उनको भी पढ़ें
  • ये वाइन सर्दी जुकाम से बचाती है
  • immune सिस्टम स्ट्रांग हो जाता है .
  • लम्बी उम्र तक जी सकते है
  • एलज़ाइमर का खतरा कम हो जाता है
  • दिमेंशिआ की सम्भावना कम हो जाती है
  • डिप्रेशन नहीं होता
  • शरीर में खून की कमी नहीं होती .
  • मुरझाये हुए चेहरों में रौनक आ जाती है.

ध्यान और योग प्रणायाम करने वाले लोग इसका प्रयोग न करें कारण इस से एकाग्रता भंग होती है . इस आर्टिकल में बताये गए सभी टॉपिक सिर्फ जानकारी के लिए इनको घर पर आजमाने से पहले सरकारी अधिकारिओं की सलाह ले लें क्यों के भारत में बिना लाइसेंस शराब बनाना गैर कानूनी है



Leave a Comment