गुर्दे की पथरी का आयुर्वेदिक नुस्खा — kidney  stone  ayurvedik   remedies

गुर्दे की पथरी का आयुर्वेदिक नुस्खा — kidney stone ayurvedik remedies





गुर्दे की पथरी का आयुर्वेदिक नुस्खा — kidney stone ayurvedik remedies जब गुर्दे की पथरी हो जाये तो ऐसा लगता है जैसे कोई अंदर से काट रहा हो इसका दर्द बहुत तेज और असहनीय होता है ,जो लोग कम पानी पीते हैं,उनको इसकी सम्भावना ज्यादा होती हैं .कम पानी पीने से किडनी में क्रिस्टल इकट्ठा होना शुरू हो जाते हैं जो बाद में जम कर पथरी का रूप ले लेते हैं  ,

गुर्दे की पथरी




 

डॉक्टरों का कहना हैं के कैल्शियम की अधिक मात्रा लेने से भी किड्नी स्टोन हो सकता हैं ,जिन लोगो को किड्नी स्टोन हो जाये वो क्रिस्टल और कैल्शियम वाले पदार्थो को न खाएं ,जैसी की टमाटर ,पालक , मटर , दूध से बने पदार्थ , इस आर्टिकल में मैं आपको किड्नी स्टोन निकलने के आयुर्वेदिक नुस्खे बताने जा रहा हु , इनको आप नोट कर के रख लें अगर किसी को जरुरत पड़े तो प्रयोग कर सकते हैं ,


जो लोग गुर्दे की पथरी का ओप्रशन करवा लेते हैं उनको फिर से पथरी होने की आशंका रहती हैं , हमने कई मरीज ऐसे देखे हैं जो तीन तीन बार ओप्रशन करवा चुके हैं लेकिन उसके गुर्दे में पथरी बनना जारी रहता हैं .


अगर पथरी छोटी हो तो ज्यादा पानी पीने से निकल जाती हैं लेकिन अगर बड़ी पथरी हो तो ये समस्या गंभीर हो जाती हैं . बहुत भयानक दर्द होता हैं , उस समय मरीज मरीज सिर्फ यही चाहता हैं के रोग ठीक होना चाहिए छाए ओप्रशन क्यों न करवाना पड़े .


गुर्दे की पथरी के लक्षण

कैसे पता करें के गुर्दे की पथरी हैं ,इसकी जांच मूत्र से भी हो जाती हैं .अगर मूत्र टेस्ट में क्रिस्टल ाएँ तो संभावना हैं को गुर्दे की पथरी हो जाएगी , या हो चुकी हैं .

xray – स्कैन करवाने से भी पता चल जाता हैं .

पेशाव रुक रुक कर आता हैं .पेशाव का रंग लाल या पीला हो सकता हैं , पेशाव जलन के साथ आए तो समझ ले , गुर्दे की पथरी हो रही हैं या गुर्दे में कचरा जमा हो रहा हैं .

जिनको गुर्दे की पथरी होती हैं उनको उल्टियां ही शुरू हो जाती हैं ,

पथरी का दर्द गुर्दे से होता हुआ कमर में पीछे की तरफ जाता हुआ महसूस होता हैं ये दर्द कमर में लेफ्ट साइड या राइट साइड में होता हैं .ऐसा लगता हैं जैसे कोई नुकीली चीज से काट रहा हो .

 

 


गुर्दे की पथरी का आयुर्वेदिक नुस्खा-

जिस मरीज को गुर्दे की पथरी हो वो अधिक से अधिक पानी पिए , हर आधे एक घंटे बाद पानी पीता रहे
कैल्शियम और क्रिस्टल वाले खाद्य पदार्थो से परहेज करें , अश्वगंधा सत्व खाने से भी गुर्दे की पथरी हो जाती हैं .

नुस्खा नो. १
हरजरूल यहूद भसम 5 ग्राम
मूली खार 5 ग्राम
जोंखार 5 ग्राम
इन सभी पीस कर एक डीब्बी में बंद कर के रख लें , सुबह शाम 5-5  रती ताजे पानी के साथ खाने से पथरी गलना शुरू हो जाती हैं पेशाव खुल के आता हैं ,धीरे धीरे पथरी ख़तम हो जाती हैं .




नुस्खा नो. २
कलमी शोरा 40 तोला
फिटकरी ५ तोला
नौशादर २ तोला
इन सभी को लोहे के हमाम दस्ते में कूट कर बारीक कर लें .उसके बाद मिटटी की हांडी में पकाएं कुछ समय में सारी सामग्री आपस में घुल जाएगी , और तरल हो जाएगी , उसके बाद उसको उतार कर ठंडा होने पर फिर से अच्छी तरह कूट लें बिलकुल बारीक पाउडर बना कर रख लें ,एक भी क्रिस्टल दिखाई नहीं देना चाहिए फिटकरी का ,

मात्रा और सेवन बिधि
7 रती सुबह शाम नारियल के पानी के साथ या सादे पानी के साथ लेने से कुछ दिनों में पथरी टूट कर मूत्र मार्ग से बहार निकल जाती हैं .

अगर आप ये ओषधि खुद नहीं बना सकते तो बाजार से बानी बनाई मिल जाती हैं . पंसारी की दूकान में ये मिल जाती हैं .पतंजलि स्टोर से भी मिल जाएगी इसका नाम हैं श्वेत पर्पटी

नुस्खा नो. ३
संगयहूद भस्म            ३ रती
श्वेत पर्पटी                  ५ रती
मुलीखार                    २ रती
जों खार                      २ रती
सुबह शाम पानी के साथ लेने से सात दिनों में गुर्दे की पथरी निकल जाती हैं


गुर्दे की पथरी के घरेलु नुस्खे  

गोखरू का क्वाथ पीने से पथरी निकल जाती हैं गुर्दे साफ़ हो जाते हैं .पेशाव खुल कर आने लगता हैं .

जामुन के फल खाने से भी पथरी के मरीज को आराम मिलता हैं

अगर पथरी की शुरआत हुयी हैं तो जों की बेयर पीने से लाभ होता हैं

पतंजलि की अश्मरी हर रस खाने से भी पथरी निकल जाती हैं ये तो आपको बहुत आसानी से मिल जाएगी पतंजलि स्टोर में



Leave a Comment