समय  बार बार मौका नहीं देता – what is life

समय बार बार मौका नहीं देता – what is life





समय बार बार मौका नहीं देता  अगर कोई आपसे पूछे ? तो आप क्या उतर दोगे ,हर किसी का अलग जवाब होगा आपके सोचने का नज़रिया मेरे सोचने का अलग ,मेरी नज़र में लाइफ एक मौका है न जाने कोण सा मौका आपके जीवन की कहानी को बदल दे,कुछ लोगो का मानना है के जनम से मृत्यु के अंतराल का समय ही जीवन है , , नहीं ये jwab सही नहीं है ,जीवन कभी ख़तम नहीं होता ,आत्मा एक शरीर से दूसरे शरीर में चला जाता है ,जनम कौन लेता है और मरता कौन है,आपका शरीर मिट्टी, पानी , वायु ,अग्नि और आकाश इन  पांच तत्वों से बना है ये सब तो निर्जीव है ,तो फिर जीवन क्या है ,

जिंदगी का रहस्य

आपने भी पढ़ा होगा शरीर पांच तत्वों से बना है ,मृत्यु के बाद ये पांचो तत्व विलीन हो जाते है मिट्टी में , कुछ लोग बहस करना शुरू हो जाते है आकाश कहा है हमारे शरीर में ,आकाश का अर्थ है स्पेस अगर आपने विज्ञानं पढ़ा है तो आपको पता होगा हमारा शरीर अरबो खरबों छोटे छोटे कणों से मिलकर बना है ,हर कण एक दूसरे से कुछ दुरी पर है , एक कण के दूसरे कण के बीच की खाली जगह को स्पेस कहते है ,शास्त्रों में इसी को आकाश कहा गया है .




क्या हमारा शरीर सिर्फ पांच तत्वों से बना है इसका जवाब है नहीं ,हमारे शरीर में एक और तत्व मौजूद है ,जो इन पांचो तत्वों को संजीव बनाता है ,वो है आत्म तत्व ,गीता में भी लिखा है आत्मा कभी मरती नहीं और न कभी जनम लेती है ,तो फिर जीवन अर्थ क्या है जीवन का मकसद क्या है क्यों हम जनम लेते और मरते है ,

जीवन और समय बार बार मौका नहीं देता ,

हमें एक मौका मिला है , इस मोके का फायदा उठाना चाहिए ,अपने अहंकार और जड़ता में इसे यूहीं बर्बाद न कर दे,

एक बार एक राजा ने किसान से कहा , आज तुम जहां तक अपने कदमो से इस जमीन को नाप लोगो वो सारी जमीन तुम्हारी होगी लेकिन एक शर्त है ,तुम जिस स्थान से नापना शुरू करोगे सूर्य अस्त होने से पहले तुम्हे उसी बिंदु पर आना है ,किसान की ख़ुशी का ठिकाना न रहा ,उसने दौड़ना शुरू कर दिया दौड़ते दौड़ते सुबह से शाम हो गयी ,

लेकिन उसको अब ये सोच कर मजा आने लगा था के जितना ज्यादा नाप लूंगा उतनी ज्याद जमीन मेरी हो जाएगी , उसको याद नहीं रहा के जहां से शुरू किया है बापिस उसी जगह पहुंचना भी है .कुछ ही समय बचा था ,सूर्य अस्त होने बाला था लेकिन किसान इतना दूर निकल चूका था के सूर्य अस्त होने से पहले उस बिंदु पर नहीं पहुँच सका जहां से उसने शुरू किया था ,किसान राजा की शर्त हार गया ,उसको एक मौका मिला था लेकिन अपनी अज्ञानता और लालच ने उस मोके को खो दिया ,

टोनी फैडल ने अपनी वर्षो की रीसर्च के बाद एक नयी तकनीक खोज निकाली थी ,वो उसको लेकर रियल नेटवर्क कंपनी के मालिक के पास गया ,लेकिन उस कम्पनी का मालिक अपने अहंकार के कारण ,उसकी बात को अनसुना कर दिया और उसको बाहर निकल दिया , टोनी फैडल ने हार नहीं मानी वो उस टेक्नीक को लेकर एप्पल कंपनीके मालिक के पास गया .उसी टेक्नीक से  i-pad और  i-phone का प्रोडक्शन हुआ ,रियल नेटवर्क कंपनी के मालिक को भी मौका  मिला  था लेकिन वो उस मोके का लाभ न उठा उसका,

अवसर क लाभ कैसे उठाये

बक्त  बार बार मौका नहीं देता सही समय पर सही निर्णय कर दिया तो ,उस मोके का लाभ मिल सकता है ,अब एक और सवाल उठ गया के सही फैंसला करने की शक्ति कैसे आती है ,कैसे विवेक जागृत होगा ,इसके लिए आपको अपने अहंकार , लालच , और जड़ता को छोड़ कर हर किसी की बात को ध्यान से सुने ,ऐसा न सोचे ये मुझे क्या सिखाएगा मैं तो इस से ज्यादा जनता हू ,




जीवन भी एक मौका है ,जिस तरह किसान अपनी अज्ञानता के कारण बापिस न पहुँच सका ,वही हाल हम सब का है ,हमें ईश्वर एक ने मौका दिया है ,84 लाख योनिओ से छुटकारा पाने का मोक्ष प्राप्ति का ,लेकिन हम उस मोके का फायदा नहीं उठाते ,अपने अहंकार लालच और जड़ता में फस कर यही अपना जीवन बर्बाद कर देते है ,कभी हम उस बिंदु तक बापिस नहीं पहुँच पाते जो हमारा लक्ष्य है.

 

Leave a Comment